विभाज्यता का नियम | Vibhajita Ke Niyam

Vibhajita Ke Niyam:

2 से विभाज्यता का नियम 

यदि किसी संख्या के अन्त में सम अंक हो या शून्य हो, तो वह संख्या 2 से पूर्णतः विभाज्य होगी।

जैसे – 244, 22, 512, 20, 280 आदि।

4 से विभाज्यता का नियम 

यदि किसी संख्या के अंतिम दो अंक 4 से पूर्णतः विभाज्य हो जाते हैं, तो वह संख्या 4 से पूर्णतः विभाज्य होगी।

जैसे – 80764, 4572, 352 आदि।

8 से विभाज्यता का नियम 

यदि किसी संख्या के अंतिम तीन अंक 8 से पूर्णतः विभाज्य हो जाते हैं, तो वह संख्या 4 से पूर्णतः विभाज्य होगी।

जैसे – 4600, 45456 आदि।

संक्षिप्त में समझें

  2 = 2 –  अंतिम का पहला का अंक 2 से पूर्णतः विभाज्य हो।

22   = 4 – अंतिम का दो अंक 4 से पूर्णतः विभाज्य हो।

23   = 8 – अंतिम का तीन अंक 8 से पूर्णतः विभाज्य हो।

अतः उपरोक्त से स्पष्ट है की 2 पर जितना घात होता है अंतिम से उतने अंको में भाग देते हैं।

3 से विभाज्यता का नियम 

यदि किसी संख्या में सभी अंको के योग में 3 का भाग पूर्णतः चला जाता है, तो वह संख्या 3 से पूर्णतः विभाज्य होगा।

जैसे – 1338

1338 में अंको का योग = 1 + 3 + 3 + 8 = 15, जो की 3 से पूर्णतः विभाज्य है।

9 से विभाज्यता का नियम 

यदि किसी संख्या में सभी अंको के योग में 9 का भाग पूर्णतः चला जाता है, तो वह संख्या 9 से पूर्णतः विभाज्य होगा।

जैसे – 29034

29034 में अंको का योग = 2 + 9 + 0 + 3 + 4 = 18, जो की 9 से पूर्णतः विभाज्य है।

5 से विभाज्यता का नियम

यदि किसी संख्या के अन्त में शून्य या 5 अंक है, तो वह संख्या 5 से पूर्णतः विभाज्य होगा।

जैसे – 125, 625, 400, 50 आदि।

6 से विभाज्यता का नियम

यदि कोई संख्या 2 और 3 दोनों से विभाज्य हो, तो वह संख्या 6 से पूर्णतः विभाज्य होगी।

जैसे – 24612, 2 और 3 दोनों से पूर्णतः विभाज्य है, अतः यह दिया गया संख्या 6 से भी पूर्णतः विभाज्य होगा।

7 से विभाज्यता का नियम-क्लिक करें 

11 से विभाज्यता का नियम 

यदि किसी संख्या में दायीं ओर से चलने पर सम स्थानों के अंको का योग तथा विषय स्थानों के अंको के योग का अंतर 0 या 11 से पूर्णतः विभाज्य हो, तो वह संख्या भी 11 से पूर्णतः विभाज्य होगी।

जैसे – 7127362

सम स्थानों के अंको का योग = 6 + 7 + 1 = 14

विषम स्थानों के अंको का योग = 2 + 3 + 2 + 7 = 14

इनका अंतर = 14 – 14 = 0

अतः दिया गया संख्या 11, से पूर्णतः विभाज्य होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *