श्रीमती प्रतिभा देवीसिंह पाटिल का जीवन परिचय

जीवन परिचय

स्वतन्त्र भारत के इतिहास में श्रीमती प्रतिभा देवीसिंह पाटिल पहली महिला राष्ट्रपति तथा क्रमानुसार 12वीं राष्ट्रपति रहीं हैं। इनका जन्म 19 दिसम्बर 1934 ई० को महाराष्ट्र के जलगांव जिले के नन्दगाँव ग्राम में हुआ था। इनके पिता का नाम श्री नारायणराव पाटिल था जो एक राजनेता थे।

इनकी प्रारम्भिक शिक्षा जलगांव के विद्यालय में हुई। इसके बाद इन्होंने मूलजी जेठा कॉलेज से स्नातकोत्तर (एम०ए०) और मुंबई के गवर्नमेंट ला कॉलेज से कानून की पढ़ाई की। इनकी रूचि खेल में भी थी तथा ये टेबल टेनिस की अच्छी खिलाड़ी थीं। इन्होंने कई अन्तर्विद्यालयी प्रतियोगिताओं में विजय प्राप्त की तथा 1962 ई० में ये एम जे कॉलेज में कॉलेज क्विन चुनी गयीं। इसी वर्ष 1962 ई० में ही इन्हें एदलाबाद क्षेत्र से विधानसभा के चुनाव में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के टिकट पर विजय मिली।

इनका विवाह देवीसिंह रणसिंह शेखावत के साथ 7 जुलाई 1965 ई० में हुआ। शेखावत के पूर्वज राजस्थान के सीकर जिले के लोसल छोटी गांव से थे और बाद में जलगांव महाराष्ट्र में जाकर बस गए।

राजनीतिक जीवन

प्रतिभा पाटिल जी के राजनीतिक जीवन की शुरुआत 1962 ई० में हुई जब इन्हें विधानसभा के चुनाव में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के टिकट पर विजय प्राप्त हुई। ये वर्ष 1962 से 1985 ई० तक पांच बार महाराष्ट्र विधानसभा की सदस्य रहीं।

महाराष्ट्र के भूतपूर्व मुख्यमंत्री यशवंत राव चौहान एवं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता से ये बहुत अधिक प्रभावित हुई, जिससे ये राजनीतिक विचार-विमर्श में इनका सहयोग लेती थीं। ये वर्ष 1967 से 1972 तक महाराष्ट्र सरकार में राज्यमंत्री और वर्ष 1972 से 1978 तक कैबिनेट मंत्री रहीं तथा इन्होनें कई महत्वपूर्ण मंत्रालयों का कार्यभार संभाला। ये 1986 में राज्यसभा की उप सभापति बनीं।

18 नवम्बर 1986 से 5 नवम्बर 1988 तक सभापति, राज्य सभा भी रहीं। श्रीमती प्रतिभा देवीसिंह पाटिल जी 1989 में महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस की प्रमुख बनीं। इन्हें वर्ष 1991 में दसवीं लोक सभा (संसद के निचले सदन) के लिए निर्वाचित किया गया और इन्होनें इसी वर्ष में अध्यक्षा, सदन समिति, लोक सभा के रूप में कार्य किया।

प्रतिभा पाटिल जी को 8 नवम्बर 2004 को राजस्थान की राज्यपाल के रूप में नियुक्त किया गया। इन्होनें भारत के राष्ट्रपति पद पर निर्वाचन के 22 जून 2007 को राज्यपाल के पद से इस्तीफा दे दिया। श्रीमती प्रतिभा देवीसिंह पाटिल जी 25 जुलाई 2007 को अपने विरोधी भैरो सिंह शेखावत को लगभग 3 लाख वोटों से हराकर राष्ट्रपति के पद पर विराजमान हुई तथा 2011 तक इस पद को सुशोभित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *